Spread with love

शिमला। वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने यहां 800 करोड़ रुपये की जापान अंतरराष्ट्रीय सहयोग एजेंसी (जिका) परियोजना की समीक्षा करते हुए कहा कि इस परियोजना के कार्यान्वयन का यह पहला वर्ष है और इस दौरान पौधरोपण और ग्रामीण आजीविका सुधार आदि कार्यों पर 41.78 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि परियोजना के अंतर्गत इस वर्ष 854 हेक्टेयर वन भूमि पर 12 लाख पौधे रोपे जाएंगे। परियोजना के सभी कार्य ग्रामीण वन विकास समितियों के माध्यम से किए जाएंगे और अभी तक 81 वन विकास समितियों का गठन किया जा चुका है।

गोविंद ठाकुर ने कहा कि प्रत्येक वार्ड के लिए विशेषज्ञ एक सूक्ष्म योजना तैयार कर रहे हैं और 30 जून, 2020 तक 40 सूक्ष्म योजनाएं तैयार कर दी जाएंगी। वर्ष 2020-21 में 150 सूक्ष्म योजनाएं तैयार कर कार्य शुरू किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि प्रत्येक वार्ड में दस युवाओं को रोज़गार प्रदान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस परियोजना के माध्यम से फलदार पौधों के साथ-साथ किन्नौर जिले में नेवजा तथा स्पिति में सीबकथोर्न का पौधरोपण किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: